ईवीएम में गड़बड़ी कैसे की जा सकती है ? | चुनाव में सचमुच धोखाधड़ी की गयी ? | EVM | Evm Machine Photos | Evm Full Form | हिन्दी

ईवीएम के द्वारा चुनाव सचमुच धोखाधड़ी की गयी ? | EVM | Evm Machine Photos | Evm Full Form | हिन्दी

ईवीएम का भारत के चुनावों में बहुत बड़ा योगदान रहता है। यह भारतीय चुनावों में जितनी उपयोगी है उतनी ही विवादास्पद भी। नुक्कड़ पर अपनी दुकान चला रहे कोई बी.ए. फेल अंकल जी भी अपनी समाजशास्त्र की डिग्री के आधार पर कह देते हैं कि       ” अरे! चुनाव में तो ईवीएम में गड़बड़ी कल्ली” भारत में  राजनीतिक पार्टी के प्रति भक्ति तो भगवान बच्चे के अंदर मां के गर्भ से ही इंस्टॉल करके भेजते है। और रही सही कसर मां बाप पूरी कर देते हैं। खैर, हम कहां खो गए हमें आज ईवीएम पर बात करनी है। चुनाव आते आते ईवीएम और ज्यादा चर्चा होने लगती हैं। कहीं कहीं सुना जाता है कि ईवीएम पक्षपात करती हैं। फिर इस बात में कितनी सच्चाई है। यह मैं नहीं कह सकता क्योंकि मैं वहां मौजूद नहीं था।

                                   अब ईवीएम ने जब आज आम जन मानस को इतना परेशान कर रखा है तो इस पर बात करना लाज़िमी है। आज हम बात करेंगे ईवीएम क्या है? भारत में कैसे अाई? कौन कौन देश इसे इस्तेमाल करते हैं? इसमें किस प्रकार गड़बड़ियां की जा सकती हैं। किस प्रकार इससे चुनाव परिणामों को प्रभावित किया जा सकता है? क्या ईवीएम का इस्तेमाल चुनावों में करना चाहिए?

पत्नी के अलावा भी अन्य लड़कियों से क्यों होते हैं पुरुषो के सम्बन्ध ? | Extramarital Affairs Meaning | Extra Marital Affairs

                                                क्या है ईवीएम?

                                                    E – Electronic                                                                V – Voting
                                                    M – Machine

 ईवीएम वोट व एकत्रित करने का एक आसान जरिया है। जिसका प्रयोग कागज़ खपत कम करने और समय बचाने के लिए मुख्य रूप से शुरू किया गया। 1998 में पहली बार इसका इस्तेमाल किया गया। उसके बाद 2004 से देश के सभी प्रकार के विधानसभा के चुनावों में इस मशीन का प्रयोग शुरू कर दिया गया। इससे पहले बैलेट पेपर द्वारा चुनाव संपन्न कराए जाते थे। ईवीएम के आने के बाद बैलेट पेपर से चुनाव बहुत कम हो गए। 

क्या धारा 370 को समाप्त किया जा सकता है ?| धारा 370 | Dhara 370 | Dhara 370 Kya Hai? | धारा 370 क्या है हिंदी में? | धारा 371 क्या है?

                                     कैसे करता है ईवीएम काम?

इस मशीन में एक तरफ चुनाव चिन्ह तथा उम्मीदवार की फोटो लगी रहती है। उसकी ठीक आगे एक लाल रंग की लाइट लगी रहती है। जिसके आगे एक नीले रंग का बटन दिया गया होता है जिस को दबाने से उसकी ठीक पास वाला लाइट जल जाता है, और जिस उम्मीदवार को वोट दिया जाना है, उस पर वह बहुत पड़ जाता है।

कैसे जानें कि किसी राजनेता या व्यक्ति द्वारा आपका ब्रेन वॉश किया गया है? । Brainwash । Brainwashing । Brainwashed । Brainwash Synonyms

                                       क्या है वोटर वेरिफाइड पेपर ट्रेल?

हाल ही के चुनावों के बाद जब विभिन्न दलों ने इस मशीन में भी गड़बड़ी की आशंका जताई तो दिल्ली हाई कोर्ट नें चुनाव आयोग को यह आदेश दिया कि वे एक ऐसी तकनीकी का इस्तेमाल करें जिससे कि यह सत्यापित हो सके कि मतदाता ने किस को अपना मत दिया है। 

                                  इसके पालन में 2012-13 में आयोग ने वोटर वेरिफाइड पेपर ट्रेल को ईवीएम के साथ जोड़ा। जिसका प्रयोग अब व्यापक स्तर पर किया जाने लगा है।

Breakup Reasons| Breakup| Reasons To Breakup | Why Do Couple breakup [हिंदी ]

                                                      कौन बनाता है ईवीएम?

ईवीएमत भारत में इलेक्ट्रॉनिक्स कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया नामक एक कंपनी तथा भारत इलेक्ट्रॉनिक्स बनाते हैं। इसकी क्षमता एक बार में 64 उम्मीदवारों तक की हो सकती है। तथा 3840 वोट्स एक मशीन स्टोर कर सकती है।

                            

क्या शादी के बिना भारत में लड़का लड़की एक छत के नीचे रह सकते है।|Cohabitating | Live In Hindi | Live In Relationship | लिव इन रिलेशनशिप और इससे जुड़े क़ानूनी नियम | हिंदी

                            ईवीएम में गड़बड़ी कैसे की जा सकती है?

ईवीएम में कोई भी वायरलेस संचार नहीं किया जा सकता जब तक कि आप उसी कि तरह दिखने वाली कोई और मशीन धोखा धड़ी के लिए ना बना लें। 

इसमें एक ‘टोटल’ बटन होता है जिसे नतीजों वाले दिन दबा के देखने के लिए ‘सील’ कर दिया जाता है। 

सबसे पहले तो यदि ईवीएम की मेमोरी जिसमे वोट स्टोर करके रखे जाते हैं। यदि हम उसे फर्जी दूसरे वोटों वाली मेमोरी चिप से बदल दें तो अपना मनचाहा उम्मीदवार जिताया जा सकता है। ये ठीक उसी प्रकार है जैसे आप अपने फोन में मेमोरी कार्ड लगाते हैं। 

दूसरा यदि आप उसकी डिस्प्ले को बदल कर अपनी डिस्प्ले लगा दें जिसे ब्लूटूथ द्वारा नियंत्रित किया जा सके तो आप नतीजों वाले दिन अपनी मर्जी के अनुसार उस डिस्प्ले पर मनचाहे अंक दिखा सकते है। और भाई साहब फिर किसी को भी जिताइए। 

How To Deal With Your Competitor In Love | Competitor Analysis | Types Of Competitors | English


                                   थोड़ा अधिक आसान तरीका

नतीजों वाले दिन से पहले कर्मचारियों को गिनती करने का प्रशिक्षण दिया जाता है। जिसमे यही ईवीएम इस्तेमाल होती है। अब दोनों दिखने में एक जैसी हैं। थोड़ा अपना दिमाग लगाइए और स्ट्रॉन्ग रूम में उन ईवीएम से अपनी वालियों को बदलवाए। अब इतनी मेहनत तो आपको करनी पड़ेगी भाई साहब। 

डकैती क्या है? | धारा 391 | धारा 392 | धारा 396 | धारा 397 | धारा 398 | धारा 398 | हिंदी

अगर ईवीएम में गड़बड़ी ही की गई तो सारी सीटें क्यों नहीं जीत लेते नेता कुछ कम सीटें ही क्यों?

जब बेईमानी करी जाती है तो उसे भी इमानदारी से करना पड़ता है। क्योंकि विभिन्न जगहें ऐसी होती है जहां किसी पार्टी का गढ़ होता है। अब आप यह बताएं कि यदि नरेंद्र मोदी वाराणसी से हार जाए तो क्या कांग्रेस पार्टी पर यह आरोप नहीं लगाया जाएगा कि उन्होंने ईवीएम में गड़बड़ी करके चुनाव जीता है क्योंकि वहां से किसी इतने बड़े नेता का हार जाना कोई छोटी बात तो नहीं होगी। 

 और क्या आम जनता या नहीं सोचेगी कि सच में धांधली हुई है। इसलिए रूलिंग पार्टी को ऐसी जगहों पर धांधली करना फायदेमंद नहीं लगता।  

“बेईमानी को भी इमानदारी से करना जरूरी है, इससे किसी को संदेह भी नहीं होता और आपका कार्य भी सिद्ध हो जाता है।”

                                 – आदित्य

Islamophobia | What Is Islamophobia | History Of Islamophobia | इस्लाम से डर क्यों ? | हिंदी

                                               ईवीएम कहां कहां?

अमेरिका, जर्मनी,आयरलैंड जैसे विकसित देशों में भी ईवीएम का इस्तेमाल नहीं होता जहां कुछ में तो इसे असंवैधानिक तक घोषित कर दिया गया है। 

भारत, नाइजीरिया, वेनेजुएला, यूक्रेन तथा ऐसे ही कई अन्य विकासशील देशों में ईवीएम का प्रयोग अभी भी होता है।

कंबोडिया, भूटान, नेपाल जैसे गरीब देश अभी भेज तकनीकी इस्तेमाल नहीं करते और अब उनके यहां ईवीएम के प्रयोग की बातें शुरू हुई है।

National Emergency | राष्ट्रीय आपातकाल 356 | आपात काल क्या है ? | हिंदी

                              क्या ईवीएम का इस्तेमाल करना ज़रूरी है ?

यदि हम दावा करते हैं कि हम बड़े मॉडर्न हैं। तो हम उस तकनीकी का इस्तेमाल क्यो कर रहे हैं। सारे बड़े और विकसित देश ईवीएम की छोड़ चुके हैं। हमारे पड़ोसी देश भी इसे इस्तेमाल नहीं कर रहे। पाकिस्तान, चीन, नेपाल कोई भी इसे इस्तेमाल नहीं करता फिर क्या हम ही इतने गए गुजरे हैं। कि हम आज भी इसे इस्तेमाल कर रहे है। मुझे लगता है इसे तुरंत रोक कर दूसरा विकल्प खोजा जाना चाहिए। हिन्दी 

ईवीएम के द्वारा चुनाव सचमुच धोखाधड़ी की गयी ? | EVM | Evm Machine Photos | Evm Full Form | हिन्दी

Defamation Meaning | Defamation Meaning In Hindi | Defamation Law | धारा 499 क्या है? | मानहानि | हिंदी

[हिंदी ] क्या किसी अन्य की पत्नी के साथ सम्बन्ध अपराध है ?|Section 497 Iधारा 497 क्या है ?|Ipc Bailable? | Is Adultery A Crime? | Adultery In Marriage

अगर आपको यह जानकारी पसंद आई है तो लाइक शेयर सब्सक्राइब करें।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *