क्या प्रेम संबंधों में घर से भागना चाहिए? | Love Marriage Kaise Kare | Love Marriage | हिंदी

क्या प्रेम संबंधों में घर से भागना चाहिए? | Love Marriage Kaise Kare |Love Marriage| हिंदी

तो आप को शादी  करनी है। क्योंकि अब और कुछ तो रह नहीं गया है। आपको प्यार हो गया है, अब आपको शादी करनी है। और आपके परिजन इसके लिए तैयार नहीं है। क्योंकि हो सकता है कि आप  इंटरकास्ट विवाह के ड्रामें में फंसे होंगे। और आपके पिताजी भी अमरीश पूरी टाइप के होते है। भाई साहब आपके मन में विचार आता है कि क्यों न घर से भाग जाया जाये। कुछ सपनें भी सजा रखे होते हैं, ” हम दोनों आजाद पंछी  ख़ुशी से से रहेंगे टाइप सपने सजाते हैं। ” यह प्रस्ताव आप अपनी प्रेमिका के समक्ष रखते हैं। थोड़ी छीना-झपटी के बाद वो मोहतरमा भी आपकी बात मान जाती हैं। 

सब्सक्राइब करने के लिए BELL आइकॉन दबाएं 🔔🔔

                                                           लेकिन क्या आपने सोचा के आप दोनों के भागने क बाद क्या क्या हो सकता है ? एक वाक्यां जो मैंने अपनी आँखों के सामने होता देखा आपके साथ बांटता हूँ। कुछ वर्षों पहले की ही बात है। एक प्राइमरी पाठशाला में मेरे एक सम्बन्धी कार्यरत थे। वही आस पास एक पुरुष और महिला जो एक दूसरे की सहमति से घर से भाग गए , उसके बाद मामले ने क़ानूनी रुख किया और पुरुष पक्ष को  प्रताड़ित किया गया। उसकी माँ के साथ गाली गलौच की गयी पिता को बड़ी निर्ममता से पीटा गया। डेबिट कार्ड के इस्तेमाल से  लोकेशन का पता लगया गया और फिर उन्हें बरामद किया गया। महिला पर शायद दबाब डाला गया होगा और उससे कहलवाया गया कि उसे ज़बरदस्ती भगाया गया था। और पुरुष आज भी कारावास झेल रहा है। 

5 ऐसी बातें जो बताती हैं कि कोई लड़का आपको पसंद करता है। | How To Tell If A Girl Likes You Quiz | Signs She Is Madly In Love With You | हिंदी

                            क्या करें जब आपका पार्टनर भागनें को कहे ? 


(1). सोचें।

सोचें! क्या ऐसा करना उचित है ? क्या मात्र यही एक उपाय रह गया है ? क्या अन्य साडी संभावनाएं समाप्त हो चुकी हैं ? क्या उस व्यक्ति जिसके साथ आप भाग रहे/रहीं हैं आप उस पर इतना भरोसा कर सकते हैं? और सोचें कि जिसके भी भरोसे पर आप भाग रहे है यदि एक समय बाअद वह आपका साथ न दे तो क्या आप इतने सक्षम है कि अपना भरण पोषण खुद कर सकें। क्योकि कई बार ऐसा हो जाता है। 

प्रेम संबंधों में अपने प्रतिस्पर्धी से कैसे निपटें? | How To Deal With Your Competitor In Love | Competitor Analysis | Types Of Competitors | हिंदी

(2). प्रत्याभूति के लिए कहें।  

उससे कहें कि वह गारंटी दे कि किसी स्थिति में यदि वह आपको छोड़ देता है। या वह चीज़  जिसकी वजह से आज वह आपके साथ है। तो ऐसी स्थिति में वह अपना भरण पोषण कैसे करेगा/करेगी। उसे उस स्थिति के लिए गारंटी चाहिए। फिर अपने पार्टनर की प्रतिक्रिया देखें कि वह क्या करता है।

 और मात्र वादों से खुश न हो जाएं। वास्तव  यह सोच कर चलें कि यदि सब कुछ आपके मुताबिक नहीं चला तो आप क्या कर सकते हैं। 

How To Make Your Ex Miss You On Instagram | एक्स गर्लफ्रेंड से सोशल मीडिया पर कैसे निपटें ? | Love Advice For Guys | How To Stop Being Insecure In A Relationship | हिंदी

(3). फैसला लें।   

यह एक बहुत बड़ा कदम है।  जिसमे आपका और आपके पार्टनर दोनों के  परिवारों पर बहुत बड़ा फर्क पड़ेगा इसे बहुत सोच समझकर लें। कोशिश करें कि आप इस प्रकार की गतिविधियों से बच सकें,और बहुत ही विपरीत परिस्थितयों में ऐसे कदम उठाएं। 

और सबसे पहले पुलिस के पास जाकर क़ानूनी तरीके से इस मसले को संभालें। 

Girlfriend Kaise Banaye |How To Get A Girlfriend | How To Get A Girlfriend Fast | How To Get A Lover | हिंदी

                                                 क्या हैं क़ानूनी प्रावधान ?

                                                      विशेष विवाह अधिनियम  1954

 

 

 

भारत में 1954  में एक अधिनियम लागू किया गया जो विशेष विवाह अधिनियम 1954 के नाम से विख्यात हुआ। , जिसकी मुख्य बातें नीचे दी जा रही है।

How To Deal With Cheating Girlfriend | What Should I Do If My Girlfriend Cheated On Me | Advice On Cheating | हिंदी

                                                                 मानव अधिकार 

मानवीय अधिकारों के सार्वभौमिक घोषणा पत्र 1948 में अनुच्छेद 16 में विवाह को एक मानव अधिकार का दर्जा दिया गया है।

How To Test Your Girlfriend Loyalty | कैसे पता करे की लड़की गर्लफ्रेंड आपको धोखा दे रही है?

अधिनियम से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण प्रावधान।

(1). बौद्ध जैन सिख ईसाई और मुस्लिम विशेष विवाह अधिनियम के अंतर्गत परिणय सूत्र में बन सकते हैं

(2). दो अलग-अलग जातियों से जुड़े हुए लोग इस अधिनियम के अनुसार, कानूनी तौर पर पति-पत्नी हो सकते हैं।

(3). विशेष विवाह अधिनियम जम्मू और कश्मीर राज्य को छोड़कर भारत के प्रत्येक राज्य पर लागू है।

(4). विशेष विवाह अधिनियम से विवाहित जोड़े का कोई भी पक्ष 1 वर्ष की समाप्ति से पूर्व न्यायालय में तलाक के लिए याचिका नहीं दे सकता।

(5). विशेष विवाह अधिनियम 1954 के अनुसार पुरुष जो 21 वर्ष की आयु पूरी कर चुका है तथा महिला जो 18 वर्ष की आयु पूरी कर चुकी है, अपनी इच्छा अनुसार जीवन साथी चुन सकता है, तथा विवाह कर सकता है।

Signs Of Cheating Girlfriend Psychology | Signs Of A Cheating Partner In A Relationship | Kaise Pta Krein Aapki Girlfriend Loyal Hai Ya Nhi? | कैसे पता करे आपकी गर्लफ्रेंड लॉयल है या नहीं ?|Hindi

                                          कैसे होती है कोर्ट मैरिज?

कोर्ट मैरिज कुछ स्टेप्स में संपन्न होती है। जो इस प्रकार हैं –

(1). जिले के विवाह अधिकारी को अपने विवाह के लिए लिखित सूचना दिया जाना।

(2). सूचना  की तारीख से पहले उस जिले में एक मास की अवधि तक निवास किया होना चाहिए।

(3). विवाह के दिन दोनों पक्षों और तीन गवाह जो कि  विवाह आधिकारी की उपस्थिति में उनके विवाह की घोषणा पर हस्ताक्षर करेंगे तथा विवाह अधिकारी भी उस घोषणा पर अपने हस्ताक्षर करेगा।

(4). विवाह, विवाह अधिकारी का ऑफिस या कोई भी जगह  सकती है, जो विवाह अधिकारी निश्चित करें।

[हिंदी ] एक्स लवर को दोबारा कैसे पाएं |  How To Get Back Your Lover | how to get your love back | how to get your ex back

जब आपके लिए संविधान ने इतने बेहतर प्रावधान रखे हैं, तो मुझे नहीं लगता कि आप ऐसे बचकाने कदम उठाना चाहेंगे। आप को अपनी सहमति के बिना विवाह करने से कोई नहीं रोक सकता लोग ज्ञान के आभाव में इस तरह  के कदम उठा लेते हैं जिनका कई बार भुगतान उनके परिजनों को अपनी अश्मिता से चुकाना पड़ता है।  यदि मैं आपके द्वारा लिए गए किसी भी ऐसे निर्णय को बदल सका हूँ। तो मेरे इस लेख का मंतव्य पूर्ण हो गया।

क्या प्रेम संबंधों में घर से भागना चाहिए? | Love Marriage Kaise Kare |Love Marriage| हिंदी 

 

[हिंदी ] क्या किसी अन्य की पत्नी के साथ सम्बन्ध अपराध है ?|Section 497 Iधारा 497 क्या है ?|Ipc Bailable? | Is Adultery A Crime? | Adultery In Marriage

 

 

हिंदी | Rape Definition | बलात्कार क्या है ? | Rape Meaning In Hindi | IPC 375 | IPC 376


अगर आपको यह जानकारी पसंद आयी हो तो LIKE ,SHARE ,SUBSCRIBE करें। 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *